Bahadurgarh's Leading Newspaper

चिकनगुनिया का इलाज सही समय पर न कराना ले सकता है गठिया का रूप: डा. निखिल गुप्ता

39
चिकनगुनिया बुखार एक वायरस बुखार है जो कि एडीज मच्छर एइजिप्ट के काटने से होता है। चिकनगुनिया व डेंगू के लक्षण लगभग एक समान होते है। यह रोग होने वाले जोड़ो के दर्द के लक्षणों के परिणाम स्वरूप रोगी के झुके हुए शरीर से प्रचलित हुआ है। यह बात शहर के राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित ब्रह्मशक्ति संजीवनी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के जोड़ दर्द और गठिया/बाए संबधित रोग विशेषज्ञ डा. निखिल गुप्ता ने लोगों को चिकनगुनिया के लक्षण व ईलाज के बारे में जागरूक करते हुए कही। डा. निखिल गुप्ता ने लोगों को चिकनगुनिया के लक्षण बताते हुए बताया कि चिकनगुनिया में जोड़ो के दर्द के साथ बुखार आता है और त्वचा खुश्क हो जाती है। चिकनगुनिया सीधे मनुष्य से मनुष्य में नही फैलता है, यह बुखार संक्रमित व्यक्ति को एडीज मच्छर के काटने के बाद स्वस्थ व्यक्ति को काटने से फैलता है। चिकनगुनिया में तेज बुखार के साथ रेशेज, जोड़ों का दर्द और जोड़ों में सुजन हो सकती है। डा. निखिल गुप्ता ने बताया कि चिकनगुनिया होने पर चिकनगुनिया विशेषज्ञ रहेउमाटोलॉजिस्ट डाक्टर की सलाह लेना बहुत जरूरी है। साथ ही चिकनगुनिया से पीडि़त व्यक्ति अधिक से अधिक पानी पीएं व हो सके तो गुनगुना पानी पीएं। उन्होंने बताया कि चिकनगुनिया में होने वाले जोड़ो के दर्द से छुटकारा पाने के लिए स्वयं दर्द निवारक दवा लेने की बजाय रहेउमाटोलॉजिस्ट डाक्टर की सलाह पर ही दर्द निवारक दवा ले। डाक्टर निखिल गुप्ता ने लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि यदि चिकनगुनिया का इलाज सही समय पर न करवाया जाए तो यह गठिया का रूप भी ले सकता है। डाक्टर निखिल गुप्ता ने बताया कि जोड़ दर्द और गठिया/बाए के रोगी हर शुक्रवार को सुबह 10 बजे से 12. 30 तक ब्रह्मशक्ति संजीवनी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में उनकी ओपीडी सेवाएं ले सकते है।
फोटो कैप्शन:- डाक्टर डा. निखिल गुप्ता,जोड़ दर्द और गठिया/बाए संबधित रोग विशेषज्ञ।

Comments are closed.

%d bloggers like this: