Bahadurgarh's Leading Newspaper

मकर संक्रांति पर संजय हॉस्पिटल ने लगाया स्वास्थ्य जांच शिविर 230 लोगों की जांच।

6

शहर के डॉक्टर संजय मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल ने मकर संक्रांति का पर्व आम जन के स्वास्थ्य की जांच कर मनाया है। जांच शिविर में मौसमी बिमारियों के साथ जोड़ों के दर्द के रोगियों की तादा काफी रही है। घुटने ,कमर और हाथ पैर के जोड़ों में दर्द की शिकायतें सबसे ज्यादा महिलाओें की सामने आई है। महिलाओं के साथ युवा और बुजुर्ग भी कमर दर्द से पीडि़त पाये गये। वरिष्ठ हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संजय ंिसह ने मरीजों की जांच की और उन्हे स्वास्थ्य सलाह के साथ दवाईयां भी उपलब्ध करवाई। डॉक्टर सिंह ने बताया कि जोड़ों में दर्द आर्थराईटिस के कारण होता है। उन्होंने कहा कि जोड़ों के लिगामेंट के टूटने और घिसने के कारण जोड़ की हड्डियां आपस में टकरानेे लग जाती है। जिसके कारण दर्द ज्यादा होता है। उन्होंने बताया कि आस्टो आर्थराईटिस से पीडि़त लोगों का दर्द सर्दी के कारण भी ज्यादा बढ़ता है इसलिये दर्द से पीडि़त लोगों को हर जोड़ की कसरत जरूर करनी चाहिये। उन्होनंे बताया कि सर्दियों में बुजुर्गों को सूरज निकलने के बाद कसरत कर लेनी चाहिये। क्योंकि जोड़ के आसपास की मासपेसियां जीतनी मजबूत होंगी दर्द से उतनी ही ज्यादा राहत मिलेगी। उन्होंने बताया कि आस्टो आर्थराईटिस से पीडि़त मरीजों को समय समय पर डॉक्टरी परामर्ष भी जरूर लेना चाहिये। डॉक्टर संजय मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल का ये जाचं शिविर डीएवी स्कूल में लगाया गया था। यहां पूर्वाचंल परिवार की ओर से मकर संक्रांति महोत्सव का आयोजन भी हुआ। महोत्सव के दौरान आयोजित स्वास्थ्य जांच शिविर में हॉस्पिटल की ओर से 230 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। स्वास्थ्य जांच के साथ मरीजों को निशुल्क दवाईयां दी गई और ब्लड प्रैषर, शूगर और ईसीजी की जांच भी निशुल्क की गई । वरिश्ठ हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संजय ंिसह, डॉक्टर अजय और डॉक्टर योगेश ने निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर में आये मरीजों की जांच की । मौसमी बिमारियों से बचाव के लिये डॉक्टर योगेश और डॉक्टर अजय ने मरीजों को ठंड से बचने की सलाह दी है। उन्होंनंे कहा कि मौसमी सब्जियों और फलों का सेवन करने के साथ सुबह श्याम सैर करने और व्यायाम करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है । रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने से मौसमी बिमारियोें से आसानी से बचा जा सकता है। इस दौरान पूर्वांचल परिवार के सदस्यों के साथ डीएवी स्कूल के प्राचार्य भी मौजूद रहे।

Comments are closed.

%d bloggers like this: