Hello Bahadurgarh

संस्कार रोपण के बिना अधूरी है शिक्षा व्यवस्था- कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़

बहादुरगढ़। संस्कार रोपण के बिना अधूरी है शिक्षा व्यवस्था। अत: विद्यार्थियों पढ़ाई के साथ- साथ संस्कारों की शिक्षा भी अनिवार्य रूप से ग्रहण करनी चाहिए। यह बात कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने गांव बुपनिया के होली फेथ पब्लिक स्कूल के वार्षिक उत्सव में शिरकत करते हुए मौजूद विद्यार्थियों व अभिभावकों को संबोधित करते हुए कही। होली फेथ पब्लिक स्कूल में रविवार को स्कूल का वार्षिकोत्सव, पुरस्कार वितरण एवं समाज रत्न अवार्ड कार्यक्रम हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के मुख्य आतिथ्य और श्रीमति  माया देवी की अध्यक्षता में धूमधाम से संपन्न हुआ। समारोह में देश भर के अलग-अलग राज्यों से जुड़ी संस्कृति से जुड़े कार्यक्रमों की विद्यार्थियों ने मनमोहक प्रस्तुतियां दी। समारोह में एक के बाद एक विभिन्न नृत्य-प्रस्तुतियों ने उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। छात्र-छात्राओं ने इतने अनोखे और शानदार अंदाज में नृत्य प्रस्तुत किए गए कि दर्शक तालियां बजाते रहे। कार्यक्रम का अंत भी भव्य और रोमांचकारी था। कृषि मंत्री ने स्कूल की हाईटेक कम्पयूटर लैब का शिलान्यास भी किया। बहादुरगढ़ की सामाजिक संस्था क्लीन एंड ग्रीन एसोसिएशन को ग्राउंड लेवल पर निःस्वार्थ सेवा के लिए समाज रत्न अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को लैपटॉप, टैब और शील्ड देकर सम्मानित किया गया। कुल 425 विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया।
स्कूल के वार्षिकोत्सव में पहुंचने पर मुख्यतिथि ओमप्रकाश धनखड़ का स्कूल निदेशक डॉ. कुलदीप जून और प्रधानाचार्या कविता देवी  ने फूलों का गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया। शिक्षा की देवी मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष मुख्यतिथि धनखड़ नेे दीप प्रज्वलित करके समारोह का विधिवत रूप से शुभारंभ किया। छात्राओं ने गायत्री मंत्रोचारण के माध्यम से सभी अतिथियों का वार्षिकोत्सव में पहुंचने पर स्वागत किया। मुख्यतिथि ने शिक्षा, खेलों व अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट स्थान हासिल करने वाले होनहार विद्यार्थियों को सम्मानित करते हुए कहा कि आज के विद्यार्थी ही भविष्य के कर्णधार है। विद्यार्थी अपना लक्ष्य निर्धारित करके शिक्षा ग्रहण करें और अपने लक्ष्य तक पहुंचने का काम करें। बच्चें शिक्षित होकर देश की सेवा में अपना योगदान देने के साथ साथ अपने माता-पिता व स्कूल का नाम रोशन करने का काम करें। मुख्य अतिथि ने कहा कि यह हर्ष का विषय है कि ग्रामीण क्षेत्र में होली फेथ जैसे स्कूलों से उच्च कोटि की शिक्षा ग्रहण करके बच्चे आज स्कूल का नाम रोशन कर रहे है। स्कूल की प्रधानाचार्या कविता देवी ने अतिथियों व अभिभावकों के समक्ष स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी व स्कूल की उपलब्धियों को बताया। मंच संचालन मैडम कामिनी, नीलम और कुमारी मानवी ने किया।
इस मौके पर जिला परिषद के अध्यक्ष परमजीत सौलधा, उपाध्यक्ष योगेश सिलानी, आनंद सागर, एसडीएम बादली त्रिलोक चंद, तहसीलदार कंवल सिंह, डॉ. मनीष शर्मा, शिक्षाविद खोखर, पूर्व सरपंच वीरेन्द्र कौशिक, सेवानिवृत प्रिंसिपल जयभगवान, बॉडी बिल्डर सोनू जून, HCS लोहचब, रमेश सुखीजा आदि उपस्थित रहे।